Wednesday, May 24, 2017

मुसलमानो को पुलिस फोर्स में शामिल करना बेहद जरूरी है:कमिश्नर पडसालगेकर



मुंबई: मुंबई पुलिस कमिश्नर दत्ता जी पडसालगेकर ने एक बार फिर से अपने एक बयान में कहा है कि पुलिस फ़ोर्स में मुसलमानों की भागीदारी बढ़ना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम नोजवानो को आवश्यक प्रशिक्षण देने के लिए पुलिस विभाग हर संभव सहयोग करेगा। उन्होंने कहा कि हम उनकी योग्यता और क्षमता से अच्छी तरह परिचित हैं।



खबरों के अनुसार पुलिस कमिश्नर पडसालगेकर पिछली रात पुलिस और मुस्लिम समुदाय के बीच पाई जाने वाली गलतफहमी और आशंका को दूर करने और आपसी विश्वास बहाल करने के लिए कमिश्नर की ओर से मांग किए जाने वाले जलसे में शरीक लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंन अपन सम्बोधन में कहा कि कुछ गलत व्यक्ति मुस्लिम बच्चों को बहकाने का काम करते हैं। लेकिन इसकी वजह से पूरे समाज को आरोपित नहीं ठहराया जा सकता है। लेकिन इस की वजह से बदनामी ज़रूर होती है। मुंबई पुलिस कमिश्नर ने मुस्लिम युवकों के नशीली दवाओं के प्रयोग मे लगातार हो रही वृद्धि पर भी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इसे रोकने के लिए हम सभी को मिलकर काम करना होगा।
अंजुमन इस्लाम के अधयक्ष जहीर काजी ने  अपने सम्बोधन में इस बात को दोहराया कि अंजुमन मुस्लिम नौजवानों की प्रशिक्षण के लिए हर संभव सहयोग देने के लिए तैयार है ताकि उन्हें पुलिस विभाग और सरकारी नौकरियों म अधिक से अधिक अवसर प्रदान किए जा सकें।
इस अवसर पर प्रसिद्ध समाजसेवी डाक्टर पाटनेकर ने बोलते हुए कहा कि मुस्लिम युवाओं में मराठी सीखने के लिए जागरूकता पैदा करने की भी जरूरत है क्योंकि मराठी कमज़ोर होने के कारण वह पुलिस और अन्य सरकारी नौकरियों की कोशिश ही नहीं कर पाते हैं। उन्होंने पुलिस कमिश्नर की सकारात्मक व्यवहार की प्रशंसा करते हुए कहा कि पहली बार किसी उच्च अधिकारी ने अल्पसंख्यक समुदाय के बारे में बहुत सकारात्मक व्यवहार व्यक्त किया है।
पूर्व विधायक सोहेल लोखनडवाला ने कहा कि 1992-93 के खूनी दंगों को हमने अपनी आंखों से देखा है। आज पर्यावरण में जबरदस्त बदलाव आया है और फ़ोर्स में अच्छे और खुले दिमाग के अधिकारी भी आए हैं जो पुलिस और समुदाय के बीच की खाई को पाटने की कोशिश कर रहे हैं।

Share:

आतंकवादियो की मदद करने वाले बीजेपी नेता सहित 3 को उम्रकैद: फैसले के खिलाफ bjp हाईकोर्ट में कर सकती है अपील



गुवाहाटी: एक बीजेपी नेता को आतंकवादियो की आर्थिक मदद करने का दोषी मानते हुए एनआईए की स्पेशल कोर्ट ने उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई है। स्पेशल कोर्ट ने मंगलवार को आतंकवादियो को आर्थिक मदद देने के आरोप म हीें दो पूर्व उग्रवादी नेताओं को भी उम्रकैद की सजा सुनाई है।
इन आरोपियों को 1000 करोड रुपये़ के वित्तीय घोटाले और आतंकवादियो को फंडिंग पहुचाने के मामले मे दोषी पाया गया। इन तीनो आरोपियों पर जेल के अलावा इन पर आर्थिक जुर्माना भी लगाया गया है। इनके अलावा 12 अन्य लोगों को भी कोर्ट द्वारा सजा सुनायी गयी है।



एनआईए की विशेष अदालत के जज ने उग्रवादी संगठन दिमा हलम दाओघ के चेयरमैन को सजा सुनायी है। एनआईए के वकील दिलीप दास ने बताया कि जिन लोगों को सजा सुनायी गयी उनमें आतंकी संगठन डीएचडी के कमांडर इन चीफ जेवेल गरलोसा के साथ-साथ निरंजन होजाई, मोहेत होजाई शामिल हैं।
एनआईए ने 2009 में इस मामले में गारलोसा, होजाई, एनसी हिल्स स्वायत परिषद के पूर्व कार्यकारी सदस्य मोहत होजाई, सामाजिक कल्याण विभाग के अधिकारी आरएच खान और 12 अन्य लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया था।
मोहेत होजाई को 30 मई 2009 को गिरफ्तार किया गया था और तब स हीे वह जेल में है, जबकि जेवेल गरलोसा और निरंजन होजाई गिरफ्तारी के बाद जमानत पर बाहर था। दोनों ही स्वायत्त परिषद दिमा हलम के चयनित सदस्य हैं। इसके अलावा निरंजन भाजपा का निर्वाचित सदस्य भी हैं।
इस फ़ैसले के खिलाफ़ बीजेपी हाईकोर्ट जाने की तैयारी में है। राज्‍य प्रवक्‍ता बिजन महाजन ने बताया, असम की भाजपा गौहाटी हाईकोर्ट जाने की योजना बना रही है ताकि निरंजन होजाई को इससे आजादी मिल सके।

Share:

Friday, May 19, 2017

36 किलो गांजा और 5 महिलाओं के साथ विश्वहिंदू परिषद का नेता रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार



लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के बलिया रेलवे स्टेशन पर मादक पदार्थो का एक बड़ा जखीरा पकड़ा गया है। ये मामला बुधवार रात उस समय सामने आया जब  जीआरपी ने 36 किलो गांजे के साथ पांच महिला समेत एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। जीआरपी द्वारा गिरफ्तार किया गया व्यक्ति खुद को मऊ जिले के विश्व हिन्दू परिषद् का नेता तथा पूर्व जिलाध्यक्ष बता रहा है।


इस मामले में जीआरपी ने इन सभी अपराधियो को गिरफ्तार करके विभिन्न धाराओ में चालान कर जेल भेज दिया है। मामले पर चर्चा करते हुए थानाध्यक्ष जीआरपी बलिया दिलीप कुमार पांडेय ने बताया कि बुधवार की रात प्लेटफार्म नंबर एक पर 5 महिलाएं व एक पुरुष संदिग्ध हालत में दिखे। शक होने पर जब इनकी तलाशी जीआरपी द्वरा ली गयी तो इनके पास से भारी मात्रा में गांजा बरामद हुआ।
स्टेशन पर गांजे के साथ पकड़ी गई महिलाओं के साथ उनके छोटे-छोटे बच्चे भी थे। थानाध्यक्ष जीआरपी बलिया दिलीप कुमार पांडेय ने बताया कि जब उनसे पूछ ताछ की गयी तो वो घबरा गए और जब उनके बैग की तलाशी ली गयी तो 36 किलो 340 ग्राम गांजा बरामद हुआ।

Share:

नाथूराम गोडसे की जयंती में पहुंचे विवादित बाबा ओम को लोगो ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा:कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे



नई दिल्ली: बिग बॉस मे हिस्सा लेकर काफी विवादों में घिरने वाले स्वामी ओम एक बार फिर से चर्चा में हैं। और इस बार चर्चा में आने के लिए उन्होंने खुद कुछ भी नहीं किया बल्कि लोगो ने उनकी पिटाई करके चर्चा मे ला दिया है । आज शुक्रवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्त्यारे नाथूराम गोडसे की जयंती के एक कार्यक्रम में स्वामी ओम भारी भीड़ के हत्थे चढ़ गए और इस भीड़ ने उनकी जमकर धुनाई कर डाली है। भीड़ इतने ही नहीं रुकी बल्कि स्वामी ओम की कार में भी तोड़फोड़ की।


खबरों के अनुसार दिल्ली के विकास नगर स्थित सत्यम वाटिका में नाथूराम गोडसे जयंती का कार्यक्रम रखा गया था जिसमें बिग बॉस सीजन-10 प्रतियोगी स्वामी ओम बाबा को भी आमंत्रित किया गया था। स्वागत के लिए जैसे ही बाबा को मंच पर बुलाया गया तो भीड़ में कुछ लोग भड़क गए। उनका कहना था कि गोडसे जैसी  हस्ती के जयंती पर ऐसे पाखंडी बाबा को बुलाकर उनका अपमान किया है।
कार्यक्रम में कुछ लोगों के विरोध जताते ही चारों ओर से स्वामी के खिलाफ आवाज उठने लगी और देखते ही देखते स्वामी ओम पर भीड़ टूट पड़ी और लात घूसों की बरसात कर दी. इतना ही नही स्वामी ओम अपनी कार में सवार होकर जब वहां से भागने लगे तो लोगों ने उनकी गाड़ी को चारों तरफ से घेर लिया और उनकी गाड़ी पर हमला कर दिया. हमले में स्वामी ओम की कार का शीशा भी टूट गया और कार का ड्राइवर भी घायल हो गया है ।
स्वामी ओम के पिटने का ये कोई पहला मामला नहीं है, इससे पहले स्वामी ओम एक न्यूज़ चैनल के लाइव शो में भी पब्लिक के हाथों पिट चुके हैं ।

Share:

Wednesday, May 17, 2017

वैज्ञानिको का दावा:अगले 100 सालो में इंसानो को छोड़नी पड़ेगी दुनिया



नई दिल्ली:  मशहूर वैज्ञानिक स्टीवन हॉकिंग न अपने एक ब्यान मे दावा किया है कि दुनिया और इंसानो के लिए समय बहुत तेजी खत्म होता जा रहा है। बीबीसी द्वरा शुरू होने जा रही एक नई सीरीज में मशहूर वैज्ञानिक ने कहा है कि मौसम म तेजी से हो रहे बदलावों, ऐस्टरॉइड्स के टकराने और तेजी से बढ़ती जनसंख्या से उतपन्न होने वाले खतरे के चलते इंसानों को अगले सौ सालों में किसी नए ग्रह पर जाकर बसने की जरूरत होगी।


एक्सपिडिशन न्यू अर्थ (नई पृथ्वी की खोजयात्रा) नाम की इस डॉक्युमेंट्री में प्रफेसर हॉकिंग और उनके पुराने स्टूडेंट क्रिस्टॉफे गैलफॉर्ड  दोनो मिलकर दुनिया की सैर करके पता लगाएंगे कि इंसान अंतरिक्ष में कैसे खुद को जिंदा रख सकता है। इसी सीरीज में प्रफेसर न यह भी दावा किया कि धरती और इस पर रह रहे इंसानों का समय पूरा हो रहा है। उन्हें जिंदा रहने के लिए इसे छोड़ना ही होगा। टेलिग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार इस शो का मकसद लोगों से उनके जीवन के सबसे प्रभावशाली चीज के लिए वोट करने की मांग कर ब्रिटेन के सबसे बड़े आविष्कार की खोज करना है। 
पिछले महीने ही मशहूर वैज्ञानिक हॉकिंग ने चेतावनी दी थी कि तकनीक के साथ तेजी से बढ़ रही इंसानों की आक्रामक प्रवृत्ति हमें न्यूक्लियर या बायलॉजिकल वॉर के जरिए किसी भी समय तबाह कर सकती है। उन्हें कहा कि केवल एक 'वैश्विक सरकार' ही इस 'नजदीकी विनाश' को रोक सकती है। उन्होंने आशंका जताई थी कि इंसानों में एक प्रजाति के रूप में जिंदा रहने के गुणों की कमी हो सकती है।

Share:

Tuesday, May 2, 2017

पाकिस्तान पर नही किया कोई हमला,झूठी खबर दिखा रहा है मीडिया:सेना का बयान



नई दिल्ली:  भारतीय सेना ने उन सभी मीडिया रिपोर्ट्स को एक सिरे से खारिज कर दिया है जिनमे बताया जा रहा था कि भारतीय सेना के बहादुर जवानों के पार्थिव शरीर को क्षत-विक्षत करने वाल दुश्मनो से इसका बदला लेते हुए भारतीय सेना न दुश्मन पाकिस्तान के कुछ बंकरों को तबाह व बर्बाद कर दिया है और इसके साथ ही कुछ दुश्मनों को भी मार गिराया है।


हिंदुस्तान टाइम्स से आरही खबर के अनुसार नोर्थन कमांड के एक सीनियर अधिकारी ने कहा है कि सोमवार रात को के जी सेक्टर में किसी भी तरह की बदले की कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि टीवी चैनल वाले बिना हम लोगों से पूछे ही आग-बबूला हो जाते हैं । हम लोग बदला लेंगे और जब लेंगे तब आधिकारिक तौर पर बयान भी जारी करेंगे।
गौर तलब है कि एक मई को पाकिस्‍तानी सेना की बैट टीम 250 मीटर तक भारतीय सीमा के अंदर घुस गई थी। दुश्मन देश की सेना ने दो भारतीय जवानों को शहीद कर दिया था । और साथ ही इन जवानों के शवों से भी दुश्मनो द्वरा बर्बरता भी की गई थी। इस हमले में सेना के नायब सुबेदार परमजीत सिंह और बीएसएफ के प्रेम सागर शहीद हुए थे। बीएसएफ में हेड कॉन्सटेबल के पद पर तैनात प्रेम सागर मूलरूप से उत्तर प्रदेश के देवरिया गांव के टीकमपार गांव के रहने वाले थे।
शहीद जवानों के शरीर के साथ की गई बर्बता के बाद पूरे देश म भारीें गुस्सा है। और जनता चाहती है कि अब पाकिस्तान को सबक सिखाया जाए। और ऐसे हालात मे भारतीय मीडिया ने बेहद ग़ैर ज़िम्मेदारी से सनसनीखेज़ खबर टीवी पर दिखाई। मीडिया मे खबरें आई थीं कि भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान की दो चौकियां को तबाह व बर्बाद कर दिया है। और इस कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना के 7 जवान मारे जाने की खबरे भी दिखाई जा रही थी।
और अब आर्मी की तरफ से बयान आने के बाद एक बार फिर भारतीय मीडिया की तरफ उंगलिया उठने लगी है। सवाल उठने लगे है कि आख़िर ऐसी क्या जल्दबाज़ी थी कि मीडिया ने बिना पुष्टि किये ही ऐसी खबरें चला दीं कि भारतीय सेना ने बदले की कार्रवाई करते हुए पाक के 7 जवान मार दिए हैं ।

Share:

Wednesday, February 15, 2017

ISI के लिए जासूसी कांड मे अब विश्वहिंदू परिषद का नाम भी आने लगा सामने: पकड़ा गया देशद्रोही VHP का नेता



भोपाल:  पिछलेे दिनो पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आईएसआई के लिए भारतीय सेना के साथ-साथ आंतरिक सुरक्षा की भी जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किये गए देशद्रोही ध्रुव सक्सेना के भाजपा से कनेक्शन की बात सामने आने के बाद अब एक और बड़ा खुलासा हुआ है। जिसने राजनितिक गलियारों के साथ-साथ भारतीय नागरिकों को भी झकोर के रख दिया है।


खबरे आरही हे कि इस जासूसी कांड मे पकड़े गए 11 गद्दार जासूसों में 2 का भाजपा कनेक्शन सामने आनेे के बाद एक और देशद्रोही सतना के बलराम सिंह का विश्व हिन्दू परिषद से कनेक्शन सामने आया है।
जानकारी मिल रही है कि देशद्रोही बलराम सिंह ने साल 2015 म सम्पन्न हुए विराट हिन्दू सम्मेलन में सक्रिय भूमिका निभाई थी। यह सम्मेलन विश्व हिन्दू परिषद स्वर्ण जयंती महोत्सव समिति की ओर से सतना में आयोजित किया गया था।
बीजेपी के ध्रुव सक्सेना की तरह ही बलराम सिंह के भी हमेशा मुसलमानो के खिलाफ जहर उगलने वाले विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया सहित विश्वहिंदू परिषद के कई लोगों के साथ उसकी तस्वीर सामने आई है।
गौरतलब है कि देशद्रोही ISI एजेंट ध्रुव के घर की तलाशी के दौरान पुलिस ने वहां से कई चीजें जब्त की थीं। वहीँ ध्रुव ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल पर सीएम और मेयर सहित कई बड़े नेताओं के साथ अपने फोटो भी शेयर की थी।

Share:

Featured Post

जो बढ़-चढ़ कर ले रहा था नोटबन्दी का पक्ष,मोदी का कर रहा था प्रचार:20 लाख के साथ गिरफ्तार

नई दिल्ली: अभी तक जो आदमी मोदी सरकार के नोटबन्दी के फैसले को देशहित में बताकर इसका प्रचार- प्रसार कर रहा था जो बड़ी बड़ी डींगे हॉक ...

Powered by Blogger.