Saturday, December 16, 2017

बीजेपी सांसद संजय काकड़े का दावा, गुजरात पूरी तरह हार रही है बीजेपी



नई दिल्ली:  गुजरात विधानसभा के लिए दूसरे और अंतिम चरण के मतदान के बाद से ही चुनाव से जुड़े हर एग्जिट पोल में जहां बीजेपी को जीतती हुई दिखाई जा रही है। वही कुछ लोग गुजरात मे बीजेपी की हर निश्चित बता रहे है।इन्हें मे एक है पुणे के बीजेपी सांसद (राज्यसभा) संजय काकड़े जिन्होंने राज्य में अपनी पार्टी के हारने की भविष्यवाणी की है।



संजय काकड़े ने खुद के द्वारा किये गए सर्वे का हवाला देते हुए कहा कि हमारे सर्वे के मुताबिक गुजरात में बीजेपी का प्रदर्शन वैसा नहीं होगा जैसी सबको उम्मीद है। संजय काकड़े ने बताया कि पार्टी को शायद इस बार गुजरात में सीएम की कुर्सी हाथ नही लगेगी।

सांसद संजय काकड़े के अनुसार बीजेपी सबसे लंबे समय तक गुजरात में सत्ताधारी पार्टी रही है और इसी वजह से सरकार के खिलाफ बना माहौल पार्टी को नुकसान पहुंचा रहा है। इसके अलावा मुस्लिम समुदाय भी बीजेपी से नाराज है।
पीएम मोदी को लेकर हुई बातचीत में संजय काकड़े ने कहा जब से मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, वह राज्य से जुड़े मुद्दों पर उस तरह से ध्यान नहीं दे पाय हैं जैसे सीएम रहते हुए दे पाते थे। साथ ही पिछले तीन साल में ऐसा कोई उम्मीदवार भी नहीं हुआ जो सीएम के पद पर मोदी की जगह ले सके।
इसके अलावा बीजेपी सांसद ने हार्दिक पटेल की सेक्स सीडी जारी करने को भी गलत बताया है। उनका मानना है कि इस तरह से हार्दिक से निपटने की कोशिश एक गलत कदम था।

Share:

मुज़फ्फरनगर दंगो के आरोपी बीजेपी विधायको और मंत्री के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी

लखनऊ: साल 2013 मे उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर जिले में हुए भीष्ण दंगो के आरोप मे एक स्थानीय अदालत ने उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री सुरेश राणा, पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान, भाजपा विधायक संगीत सोम और उमेश मलिक के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किए हैं। इन नेताओं के खिलाफ मुकदमा चलाने की राज्य सरकार की इजाजत मिलने के बाद अदालत ने ये वारंट जारी किए हैं।



विशेष जांच समिति (एसआईटी) के अधिकारियों के अनुसार अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश मजिस्ट्रेट मधु गुप्ता ने कल ताजा गैर जमानती वारंट जारी करते हुए दंगो के आरोपियों को 19 जनवरी 2018 को अदालत में पेश होने के लिए आदेश जारी किया है।
एसआईटी ने इन आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए के तहत कथित तौर पर घृणा फैलाने वाले भाषण देने के संबंध में मुकदमा चलाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से अनुमति मांगी थी और सरकार ने इसकी अनुमति दे दी है।
इन दंगा आरोपियों पर आरोप है कि इन लोगों ने एक महापंचायत में हिस्सा लिया था और अगस्त 2013 के अंतिम सप्ताह में भाषण के जरिए मुज़फ्फरनगर मे हिंसा फैलाई थी इसके अलावा आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत भी मामला दर्ज है।
मुजफ्फरनगर और इसके आसपास के इलाकों में साल 2013 के अगस्त और सितंबर महीने में सांप्रदायिक दंगे हुए थे इन दंगो में 60 लोगों की मौत हो गई थी और 50,000 से ज्यादा लोग विस्थापित हो गए थे।
Share:

आज रात की जाएगी EVM मशीन में गडबड़ी: हार्दिक पटेल का आरोप



अहमदाबाद: गुजरात चुनाव मे दूसरे चरण का मतदान पूर्ण होते ही टीवी चैनलों पर एग्जिट पोल में बीजेपी को मिलती बड़ी बढ़त के बीच युवा पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और ओबीसी नेता व कांग्रेस के प्रत्याशी अल्पेश ठाकोर ने ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका व्यक्त की है। हार्दिक ने तो यहां तक कहा है कि अगर वोटिंग मशीनों में कोई गड़बड़ी नहीं की गई होगी तो बीजेपी ये चुनाव जरूर हारेगी।



हार्दिक पटेल ने शनिवार की सुबह अपने ट्विटर एकाउंट से एक ट्वीट के जरिए भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंनेअपने ट्वीट में लिखा कि बीजेपी शनिवार और रविवार की रात को EVM में बड़ी गड़बड़ी करने जा रही है। बीजेपी गुजरात चुनाव हार रही है। अगर EVM मशीनों में गड़बड़ी नहीं हुई तो बीजेपी को सिर्फ 82 सीटे ही इस चुनाव मे मिल रही हैं

हार्दिक पटेल यहीं नहीं रुके बल्कि उन्होंने दूसरा ट्वीट कर कहा कि गुजरात में बीजेपी की हार का मतलब बीजेपी का पतन है। इसी लिए EVM मशीनों में गड़बड़ी करके ही बीजेपी गुजरात चुनाव जीतेगी और हिमाचल प्रदेश का चुनाव हारेगी ताकि कोई सवाल ना उठाए।
दूसरी तरफ ओबीसी नेता और कांग्रेस के राधनपुर के उम्मीदवार अल्पेश ठाकोर ने भी सवाल उठाये हैं।
अल्पेश ठाकोर ने कहा कि जब वीवीपैट का इस्तेमाल चुनाव में किया गया है तो चुनाव आयोग को वीवीपैट स्लिप को गिनने में क्या परेशानी है।

Share:

Friday, December 15, 2017

भगवाआतंक के समर्थन में सड़कों पर उतरे विहिप और बजरंगदल: 132 गुंडे रिहा



जयपुर:  राजस्थान के राजसमंद जिले में पिछले दिनों हुए दिल दहला देने वाली मुस्लिम अधेड़ की हत्या के बाद उदयपुर शहर में धारा 144 लगी हुई है। धारा 144 लगी होने के बाद भी भगवा गुंडो ने सड़को पर उतरकर उत्पात मचाया जिसमे 3 दर्जन से ज्यादा पुलिस वाले घायल हो गए। इन भगवा गुंडो ने कोर्ट पर भगवा झंडा भी फहराया था। अब इन भगवा गुंडो के समर्थन में शनिवार को विश्व हिन्दु परिषद् और बजरंग दल की ओर से मौन जुलूस निकाला गया और गिरफ्तार किए गए करीब 200 उत्पतियो को रिहा करने की मांग की है।



उदयपुर शहर के सुभाषनगर स्थित कार्यालय से लेकर जिला कलेक्ट्रेट तक निकले जुलूस के दौरान पुलिस के आला अफसरों के साथ ही भारी जब्ता मौजूद रहा। कलेक्ट्रेट के बाहर प्रदर्शन के बाद जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया। प्रतिनिधिमंडल ने इस दौरान करीब दो घंटे तक कलेक्टर का घेराव भी किया और गिरफ्तार किए सभी भगवा गुंडो को रिहा करने की मांग पर अड़ गए।
तकरीबन दो घंटे तक चली वार्ता के बाद प्रशासन ने भगवा संगठनों के सामने झुकते हुए 132 लोगों को जमानत पर रिहा करने और अन्य 75 युवाओं को कोर्ट में पेश करने की सहमति दे दी है। वहीं इस दौरान कलेक्ट्रेट के बाहर भारी पुलिस बल तैनात रहा। इस मामले में पुलिस ने 153 गुंडो को एडीएम सिटी के समक्ष जमानत के लिए पेश किया। जिसमें सभी को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया है। इस मामले में बचे हुए अन्य 53 लोगों को शनिवार को पुलिस द्वारा कोर्ट में पेश किया जाएगा।

जिस धारा 144 के बाद भी भगवा गुंडे खुलेआम उत्पात मचा रहे है उस धारा 144 को पुलिस ने उदयपुर और राजसमंद जिले में अगले 48 घंटे के लिए और बढ़ा दी है। साथ ही अगले 48 घंटे तक इन दोनों जिलों में इंटरनेट पर भी पाबंदी रहेगी।
याद दिलादे कि राजसमन्द मे भगवा आतंकी संगठनों द्वारा प्रेरित होकर शम्भूनाथ नामक भगवा आतंकी ने बर्बर तरीके से एक मुस्लिम व्यक्ति की हत्या करदी थी और इस का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। भगवा आतंकी शंभूलाल रैगर के समर्थन में उदयपुर का माहौल बिगड़ने लगा था। क्यों कि भगवा आतंकी शंभुलाल के समर्थन में गुरुवार को बड़ी संख्या में भगवा संगठनों के गुंडो ने निषेधाज्ञा का उल्लंघन करते हुए रैली निकालने की कोशिश की, जिसे रोकने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। 200 के करीब उपद्रवी गिरफ्तार किए गए थे, जबकि 30 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इन भगवा गुंडो से झड़प के दौरान एडिशनल एसपी सहित 31 जवान घायल हुए हैं। जबकि 4 सिपाहियों को गंभीर चोटें आई हैं।

Share:

धर्मांतरण का आरोप लगाकर बजरंगदल के गुंडों ने ईसाइयो को बुरी तरह पीटा



भोपाल:  मध्यप्रदेश के सतना में बीती रात बजरंग दल के गुंडो ने कथित तौर पर धर्मांतरण का आरोप लगाकर ईसाई मिशनरी के लोगों पर हमला कर दिया और एक कार भी फूंक दी है। देर रात हुए इस हमले के बाद शुक्रवार को भी पूरा दिन इस इलाके में तनाव बना रहा। पुलिस ने ईसाई मिशनरी के छह लोगों पर केस दर्ज कर गिरफ्तार किया है। हालांकि बजरंग दल के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।



मिल रही जानकारी के अनुसार सतना में एक दलित बस्ती में पादरियों और मिशनरी के कुछ अन्य सदस्यों के एक समूह ने क्रिसमस के उपलक्ष्य में कैरोल गायन का आयोजन किया था।  कैथोलिक बिशप कॉन्फ्रेंस ऑफ इंडिया (सीबीसीआई) के अनुसार इस मौके पर दो पादरी और 30 अन्य कार्यकर्ता वहा मौजूद थे। भुमकाहर गांव के 21 वर्षीय धर्मेंद्र दोहर द्वरा की गयी शिकायत पर पुलिस ने इन सभी को गिरफ्तार किया। शिकायत में कहा गया है कि उसका जबरन धर्म परिवर्तन किया जा रहा था।

पुलिस के अनुसार, ईसाई मिशनरी ने इस कार्यक्रम की इजाजत नहीं ली थी। मध्य प्रदेश धर्म स्वातंत्र्य अधिनियम की धारा 3 व 4 के तहत छह लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इनमें 60 वर्षीय पादरी एम. जॉर्ज के अलावा पांच अन्य शामिल हैं। 
इन पर राष्ट्रीय एकता को खंडित करने और धार्मिक भावनाओं को भड़काने के आरोप में धारा 153 बी और 295 ए के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। 

Share:

बीजेपी नेता ने फिर उगला जहर: हिदू राष्ट्र के लिए हथियार उठाये हिन्दू,बनेगा अखण्ड हिन्दू राष्ट्र



हैदराबाद:  देश का माहौल बिगाड़ने के लिए भगवा संगठनों के साथ-साथ बीजेपी नेता भी लगातार अपने जहरीले भाषणों से हिन्दुओ को उखड़ा रहे है। जहरीले भाषणों की इस कड़ी मे अब तेलंगाना से बीजेपी विधायक राजा सिंह ने एक बार फिर जहरीला बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हर हिंदू को अपने पास हथियार रखने चाहिए। हमें अपने देश और धर्म को बचाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमारा अखंड हिंदू राष्ट्र का सपना साकार होगा।



शुक्रवार को अपने एक कार्यक्रम में राजा सिंह ने कहा कि जो भी व्यक्ति अखंड हिंदू राष्ट्र के बीच में आएगा उसका नामो-निशान मिटा दिया जाएगा। हम उसे छोड़ेंगे नहीं और मैं आप से यह वादा करता हूं कि अखंड हिंदू राष्ट्र बनेगा। लेकिन संघर्ष से बनेगा। मेरे भाइयों अपने आप को मजबूत बनाओ। तलवार एवं अनेक प्रकार की विद्याएं आपको सीखना है। हमें क्यों सीखना? हमारी देश की रक्षा के लिए। हमारे धर्म की रक्षा के लिए। अखंड हिंदू राष्ट्र की स्थापना के लिए हर हिंदू अपने घर में हथियार रखना सीखे। अगर आपके घर में हथियार नहीं होगा, तो आप अपने आप की क्या अपने परिवार की रक्षा नहीं कर सकते।

भाजपा के इस विवादित विधायक ने बाद में इस जहरीले भाषण पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है। यह उनकी निजी राय है और उससे उनकी पार्टी की विचारधारा का कोई लेना-देना नहीं है। उधर, कांग्रेस के प्रवक्ता बृजेश कलप्पा ने राजा के बयान को लेकर भाजपा को घेरा है। उन्होंने कहा है कि भाजपा कुछ ऐसे ही पात्रों से आग को हवा देते देखना चाहती है। यह उनकी राजनीति का एक हिस्सा है।
याद दिला दें कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब भाजपा विधायक ने इस तरह का जहरीला बयान दिया हो। इस से पहले भी वह कई बार जहरीले ब्यान दे चुके है। राम मंदिर के निर्माण को लेकर उन्होंने इसी साल अप्रैल में कहा था जो लोग राम मंदिर बनाए जाने का विरोध करते हैं। हम उनका सिर काट देंगे। बकौल राजा मेरा यह बयान उन लोगों के लिए है जो यह कहते हैं कि राम मंदिर का निर्माण हुआ तो गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। हम उनके इस बात के कहने का इंतजार कर रहे हैं ताकि हम उनका सिर काट सके।

Share:

एक महीने में किया गया 9 हज़ार से अधिक रोहिंग्या मुसलमानो का जनसंहार:एमएसएफ रिपोर्ट

बर्मा:  रोहिंग्या मुसलमानो को लेकर एक बहुत ही दिल दहला देने वाली रिपोर्ट सामने आई है। जिसमे कहा गया है कि एक महीने मे ही करीब 9000 रोहिंग्या मुसलमानो का जनसंहार फ़ौज के साथ मिलकर बौद्ध आतंकियों द्वारा किया गया है। बीते गुरुवार को डॉक्टर्स विदाउट बॉर्डर्स एमएसएफ़ ने अपनी एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें रोहिंग्या मुसलमानों के जनसंहार के जो आंकड़ें दिए गए हैं। वह उन आंकड़ों से कहीं अधिक हैं जो म्यांमार सेना और संयुक्त राष्ट्र द्वारा अबतक जारी किये गये थे। एमएसएफ के मेडिकल निदेशक सिडनी वॉग ने इस रिपोर्ट मे दावा किया है कि ये आंकड़े म्यामांर मे जारी हिंसा से अपनी जान बचाकर भागने वाले 6 लाख से अधिक रोहिंग्या मुसलमानों के साथ बातचीत के आधार पर इकट्ठा किए गए हैं।



गौरतलब है कि म्यांमार की सेना और बौद्धिस्ट चरमपंथियों के जुल्म से जान बचाकर भागने वाले अधिकतर रोहिंग्या शरणार्थी म्यांमार – बांग्लादेश सीमा पर गंदगी से भरे शरणार्थी कैंपों में जीवन जीने को मजबूर हैं। वॉंग ने दावा किया है कि अब तक जो भी आंकड़ें पेश किए गए हैं वे काफ़ी नहीं हैं। इसलिए कि हमने बांग्लादेश में सभी शरणार्थी शिविरों का सर्वेक्षण नहीं किया है और उन परिवारों से भी बात नहीं की गई है जो अभी म्यांमार से बाहर नहीं निकल आ सके हैं
एमएसएफ़ की इस रिपोर्ट में बताया गया है कि म्यांमार के रखाइन प्रांत में 25 अगस्त से 24 सितंबर के दौरान यानी सिर्फ एक महीने के अंदर ही 9 हजार से अधिक रोहिंग्या मुसलमानों का कत्ल ए आम किया गया था। संयुक्त राष्ट्र संघ ने म्यांमार के रखाइन प्रांत में रोहिंग्या मुसलमानों के जनसंहार को नस्लीय जनसंहार का नाम भी दिया था।
एमएसएफ़ ने अपनी इस रिपोर्ट में दावा किया है कि 25 अगस्त से 24 सितम्बर तक मरने वालो में करीब 59 प्रतिशत से अधिक पांच वर्ष से कम आयू के बच्चे थे। जिन्हें गोली मारी गई थी। और 15 प्रतिशत को ज़िंदा जलाकर मारा गया था। तथा 7 प्रतिशत को इतना मारा गया कि उनकी मौत हो गई।
वहीं 2 प्रतिशत लोगों की मौत बारूदी सुरंगों में विस्फ़ोट के कारण हुई। म्यांमार की सत्ताधारी पार्टी की प्रमुख नेता आंग सान सूची ने रोहिंग्या मुसलमानों के पलायन के मामले पर बातचीत करने से ही इनकार कर दिया है। म्यांमार सरकार रोहिंग्या मुसलमानों को म्यांमार का नागरिक नहीं मानती है और उनके नस्लीय सफ़ाए के लिए सुनियोजित हिंसा को बढ़ावा देती रही है। और सरकार के संरक्षण में रोहिंग्या मुसलमानों का जनसंहार 2012 से जारी है।
Share:

Featured Post

जो बढ़-चढ़ कर ले रहा था नोटबन्दी का पक्ष,मोदी का कर रहा था प्रचार:20 लाख के साथ गिरफ्तार

नई दिल्ली: अभी तक जो आदमी मोदी सरकार के नोटबन्दी के फैसले को देशहित में बताकर इसका प्रचार- प्रसार कर रहा था जो बड़ी बड़ी डींगे हॉक ...

Powered by Blogger.

Blog Archive